What is CPU Processor – CPU Processor क्या है हिंदी में

What is CPU Processor in hindi –  आज जितने भी Computing Devices हैं चाहे वह साधारण खिलौने हो या कोई बड़ा बिजनेस सिस्टम सब में एक Common चीज होती है और वह है ( CPU ) Central Processing Unit  , Processor एक कंप्यूटर चिप है जो एक माचिस के डिब्बे के आकार के बराबर होती है। 

डिब्बे के अंदर एक Silicone rectangle होता है जिसमें लाखों trandistraig सर्किट होते है। डिवाइस से दर्जनों मेटल पिन को फैलाया जाता है जिनमें से प्रत्येक चिप में से इलेक्ट्रॉनिक सिंग्नल अंदर से बाहर आ जाते हैं चिप कंप्यूटर के सर्किट बोर्ड पर एक सर्किट में प्लग होता है और सीपीयू के लिए Memory , Hard Drive , Display Screen , Other Device के साथ कम्युनिकेट है आज हम आपको इस पोस्ट में CPU Processor क्या होता है ? के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं इसलिए आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें। 

 

CPU Processor क्या है ? What is CPU Processor in hindi –

 

CPU Processor कैलकुलेशन करता है , लॉजिकल Comparisons करता है और डाटा को हर सेकंड अरबो बार इधर से उधर ट्रांसफर करता है प्रोसेसर को CPU भी कहा जाता है एक लाजिक सर्किट के द्वारा ही कंप्यूटर को चलाने वाले बेसिक इंटरेक्शन को Responds और Processes  करता है। 

CPU को कंप्यूटर की Main और सबसे Important Circuitry ( IC ) Chip के रूप में देखा जाता है क्योंकि यह अधिकांश कंप्यूटर के कमांड को चलाने के लिए जिम्मेदार होता है सीपीयू सबसे Basic Arithmetic , Logical और I/O Operations के परफॉर्म करता है साथ ही कंप्यूटर में चलने वाले अन्य चिप और घटकों के कमांड भी देता है  Processor को अक्सर CPU ही कहा जाता है। 

लेकिन CPU , Computer का एकमात्र प्रोसेसर नहीं है GPU मतलब कि Graphic Card Processor Unit इसका सबसे बड़ा उदाहरण है इसके अलावा कंप्यूटर के भीतर Hard Drive और बाकी डिवाइस भी अलग-अलग तरह से प्रोसेसिंग का काम करते हैं फिर भी आमतौर पर प्रोसेसर शब्द का अर्थ CPU Processor ही समझा जाता है प्रोसेसर PC, Smartphone , Tablet  और अन्य कंप्यूटर में पाए जा सकते हैं आज के समय में प्रोसेसर के बाजार में दो मुख्य Processor INTEL and AMD है। 

 

CPU Processor के बेसिक Elements क्या है ?

 

एक CPU Processor के मूल तत्व में शामिल हैं। 

  1. Arithmetic Logic Unit ( ALU ) –  ALU  processor में भी एक सर्किट होता है जिससे अंक गणित और तर्क इकाई कहा जाता है जो गणना और तुलना करता है यह अंक गणित और तर्क गणित को पूरा करती है Arithmetic के लिए ज्यादातर CPU Basic Multiplication , Addition , Division और  Subtraction करता है। 
  2. Floating Point Unit ( FPU ) –  जिसे math co – processor और न्यूमेरिकल Co processor के रूप में भी जाना जाता है यह एक विशेष Co – Processor है जो कंस्ट्रक्ट बेसिक माइक्रो प्रोसेसर सर्किट की तुलना में अधिक से अधिक तेजी से संख्याओं में हेर – फेर और उन्हें सुलझा सकता है। 
  3. Register – यह निर्देश और अन्य डाटा को स्टोर करता है Register ALU  को operation की सप्लाई करता है और operation के परिणाम को स्टोर करता है। 
  4. L1 And L2 ( Cache Memory ) –  इसका इस्तेमाल RAM से भी तेज गति से डेटा को कलेक्ट करने के लिए किया जाता है। 

 

सीपीयू ऑपरेशन क्या है ? What is CPU Operation in hindi – 


एक CPU Processor के 4 प्राथमिक कार्य हैं। 

  • Fetch 
  • Decode 
  • Execute 
  • Write back 

 

  1. Fetch – यह एक ऑपरेशन है जो प्रोग्राम मेमोरी से RAM के लिए interaction लेता है। 
  2. Decode – वह जगह है जहां इंटरेक्शन को डिकोट किया जाता है ताकि यह पता किया जा सके कि यह ऑपरेशन को जारी रखने के लिए CPU के अन्य भागों के लिए क्या आवश्यकता है। 
  3. Execute  – यह वह जगह है जहां ऑपरेशन परफॉर्म  करता है इस तरह से एक इंस्ट्रक्शन को पूरा करने के लिए CPU के हर हिस्से की जरूरत होती है। 

 

CPU के कॉम्पोनेंट क्या है –  What are the Component of CPU ? 


एक CPU के Main Component उसका ALU , Register , Control unit होता है ALU और Register के जो भी बेसिक काम होते हैं वह हम आपको ऊपर बता चुके है। 

अब हम Control unit की बात कर लेते हैं – Control unit वह है जो निर्देश को लाने और उसको अमल  मिलाने का काम करता है यह प्रोसेसर बाकी काम काजी हिस्सों के बीच गतिविधि की सामान्यव करती है कंट्रोल यूनिट हर इंटरेक्शन को क्रियाओं के एक समूह में तोड़ देता है और सीपीयू के बाकी हिस्सों को क्रियाओं को करने का निर्देश देता है। 

उदाहरण के लिए कंट्रोल यूनिट ALU को दो संख्याओं को एक साथ मल्टिप्लाई करने और रिजल्ट में एक तिहाई नंबर जोड़ने के लिए इंस्ट्रक्शन दे सकती है Processor एक पर्सनल कंप्यूटर या छोटे उपकरणों में लगा होता है तो अक्सर उसे  Micro Processor कहा जाता है जिसका मतलब होता है प्रोसेसर के एलिमेंट एक सिंगल IC चिप में  मौजूद है। 

कुछ कंप्यूटर Multi-Core Processor का इस्तेमाल करके काम करते हैं जिसका मतलब  होता है एक चिप जिसमें 1 से अधिक CPUहो। एक CPU आमतौर पर मदरबोर्ड के साथ लगा एक छोटा उपकरण होता है। 

 

CPU Processor काम कैसे करता है – How CPU Processor Works in hindi –


इससे पहले कोई इंस्ट्रक्शन इंक्लूड किया जाए जा सके प्रोग्राम , इंस्ट्रक्शन और डांटा को एक इनपुट डिवाइस या एक सेकंडरी स्टोरेज डिवाइस से मेमोरी में रखा जाना है एक बार जब जरुरी डाटा मेमोरी में पहुंच जाता है।

उसके बाद CPU  हर इंस्ट्रक्शन के लिए यह 4 स्टेप फॉलो करता है .

  1. CPU मेमोरी के इंटरेक्शन को कनेक्ट करता है 
  2. CPU इंस्ट्रक्शन को Decode करता है और निर्देश देता है कि जरूरी डेटा को मेमोरी से ALU में ले जाया जाए इन पहले दोनों स्टेप को एक साथ Instruction Time OR I – Time कहा जाता है
  3. इसके बाद ALU Arithmetic / Logical Unit को सुलझाता है। 
  4. ALU रिजल्ट को Memory या Register में स्टोर करता है इन तीसरे और चौथे स्टेट को एक साथ एक Execution Time and E – Time कहा जाता है.

सिस्टम को काम करने के लिए कैसे CPU Processor की जरूरत होती है – 

 

आज ज्यादातर Processor Multi – Core होते हैं जिसका अर्थ है कि IC में दो या दो से अधिक ज्यादा प्रोसेसर शामिल होते हैं जिससे परफारमेंस को ज्यादा बढ़िया बनाया जाता है यह बिजली की खपत को कम करता है और कई कामों को एक साथ करने में सक्षम होता है

Multi code setup एक ही कंप्यूटर में कई अलग-अलग प्रोसेसर इंस्टॉल करने जैसा ही होता है लेकिन क्योंकि प्रोसेसर वास्तव में एक ही सकीट  में प्लग लगा दिए जाते हैं उनके बीच कनेक्शन तेज होता है ज्यादातर कंप्यूटर में 2  से 4 Core  हो सकते हैं हालांकि यह संख्या 12 Core तक बढ़ सकती है उदाहरण के लिए अगर CPU एक बार में एक ही निर्देश को प्रोसेस कर पाता है तो इस Single Core Processor माना जाता है और अगर CPU एक बार दो निर्देशों को प्रोसेस कर पाता है तो इसे Dual-core Processor कहा जाता है 

Virtualized  Processor Core को भी CPU कहां जाता है यह Physical Core  जितने पावरफुल नहीं होते हैं लेकिन Virtual Machine ( VM ) में प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है हालांकि अनावश्यक CPU को जोड़ने से Consol को नुकसान पहुंचता है इसलिए हर Physical Core के साथ ज्यादा से ज्यादा 4 से 6 V CPU होने चाहिए। 

 

इसे भी पढ़े –

HDD And SDD Kya Hota Hai ?

Super Computer kya hota hai ?

Cloud Computing क्या होता है ?

 

निष्कर्ष 

हमें आशा है कि आपको यह जानकारी CPU Processor क्या है ? पसंद आई होगी हमारी पूरी कोशिश होती है कि हमारे द्वारा दिए गए विषय पर पूरी जानकारी प्राप्त हो सके अगर आपको इस पोस्ट से संबंधित कोई भी सवाल या परेशानी हो तो आप हमें नीचे कमेंट में जरूर बता सकते हैं और हम आपके इस सवाल को जल्द से जल्द दूर करने की पूरी कोशिश करेंगे।

Default image
RAHUL
नमस्कार दोस्तो मेरा नाम राहुल विश्वकर्मा है , और मै इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ । मैं अभी कंप्यूटर साइंस से डिप्लोमा कर रहा हूँ , मुझे टेक्नोलॉजी से संबंधित जानकारी शेयर करना बेहद पसंद है । अगर आप टेक्नोलॉजी , कंप्यूटर , इंटरनेट और ऑनलाइन पैसे कैसे कमाये से सम्बंधित विषय मे रुचि रखते है , तो यह ब्लॉग आप के लिए ही बनाया गया है ।

Leave a Reply