What is Plotter in hindi ? प्लॉटर क्या होता है ?

Plotter kya hota hai ? आज के इस पोस्ट में कंप्यूटर के एक आउटपुट डिवाइस के बारे में बताने वाले हैं आपने कभी ना कभी मार्केट , सिनेमा हॉल , शॉपिंग मॉल और हाईवे जैसी जगहों पर बड़े-बड़े  बैनर और पोस्टर जरूर देखे होंगे जिनमें किसी फिल्मी सितारों का तस्वीरें या किसी प्रोडक्ट के विज्ञापन की तस्वीरें लगी होती है क्या आपको मालूम है कि उतनी  बड़े तस्वीर कैसे तैयार की जाती है? आप में से कुछ लोग कहेंगे कि यह काम एक प्रिंटर के द्वारा किया जाता है।

जो तस्वीरों को कंप्यूटर  मदद से प्रिंट कर देता है आपका कहना पूरी तरह से गलत नहीं होगा क्योंकि छोटे-मोटे पिक्चर को प्रिंट करने के लिए हम प्रिंटर का इस्तेमाल करते हैं जिन्हें कि आप सभी ने  घरों में आपके ऑफिसों में और दुकानों में जरूर देखा होगा।

लेकिन जब बात बड़े साइज की प्रिंट की होती है तो पोस्टर , बैनर तो  इन जगहों पर आम प्रिंटर का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता  यहां पर जो डिवाइस का इस्तेमाल किया जाता है उसे प्लॉटर कहते हैं यह प्लॉटर एक स्पेशल आउटपुट डिवाइस है जिनका इस्तेमाल बड़े ग्राफ्स  और लार्ज  डिजाइन के हार्ड कॉपी प्रिंट करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है प्लॉटर  क्या है ? इनका इस्तेमाल कहां किया जाता है और यह कितने प्रकार के होते हैं इसके बारे में आज आपको इस पोस्ट में बताने वाले हैं इसीलिए आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें। ताकि आपको भी प्लॉटर  के बारे में पूरी जानकारी मिल सके

 

Plotter क्या होता है ?

प्लॉटर एक हार्डवेयर डिवाइस है जो एक तरह का प्रिंटर होता है इसमें ड्राइंग , चार्ट , ग्राफ , बैनर, पोस्टर आदि प्रिंट किए जा सकते हैं इसे 3D प्रिंटिंग भी कर सकते हैं इसमें ड्राइंग बनाने के लिए पेन पेंसिल मार्कर आदि राइटिंग टूल्स का उपयोग किया जाता है प्लॉटर  हाई क्वालिटी के  चित्रों को प्रिंट करता है या सामान्य रूप से बड़े आकर  जैसे कि चार्ट और बड़े-बड़े पोस्टर बनाने के लिए काम आता है।

सबसे पहले प्लॉटर  का आविष्कार Remington Rand के द्वारा सन 1935 में हुआ था शुरुआती समय में यह UNIVAC Computer के साथ जोड़कर  उपयोग किया जाता था जिसका इस्तेमाल टेक्निकल ड्राइंग को बनाने के लिए किया जा रहा था लेकिन अब इसका इस्तेमाल एक्सटर्नल हार्डवेयर डिवाइस के रूप में किया जाता है जहां पर प्लॉटर को कंप्यूटर से usb केबल के माध्यम से कनेक्ट किया जाता है और उसके बाद इसका इस्तेमाल किया जाता है।

 

Integrated Circuit IC Kya Hai ? 

 

Plotter का इस्तेमाल कहा किया जाता है ? 

जैसा कि हमने पहले ही बताया कि प्लॉटर  एक प्रिंटर की तरह होता है लेकिन प्रिंटर का इस्तेमाल कंप्यूटर से प्रिंट आउट या हार्ड कॉपी निकालने के लिए करते हैं जिसमे  लेजर टेक्नोलॉजी का उपयोग होता है जबकि प्लॉटर का इस्तेमाल और बड़े साइज के ग्राफिक इमेज को बनाने के लिए करते हैं जिसमें एक पेन और एक होल्डर का उपयोग होता है.

प्लॉटर और प्रिंटर के इस्तेमाल करने के तरीके में या अंतर होता है है कि प्रिंटर पेपर पर आउटपुट को डॉट्स के रूप में प्रिंट करता है जबकि प्लॉटर पेपर पर आउटपुट को लगातार लाइन बना कर  ड्रॉ करता है  यह किसी भी डिजाइन को इंच पर सेकंड की गति से प्रिंट करता है प्लॉटर का इस्तेमाल कंप्यूटर ऐडेड डिजाइन यानी कि कैट , आर्किटेक्चर ब्लूप्रिंट , बिल्डिंग प्लान , चार्ट बैनर , होल्डिंग मैप्स , इत्यादि चीजों को प्रिंट करने में किया जाता है।

 

Graphic Card kya hota hai ? 

 

Plotter कितने प्रकार का होता है ? 

प्लॉटर चार प्रकार का होता है।

1 .Drum Pen Plotter

2 .Flatbed Plotter

3 .Inkjet Plotter

4 .Cutting Plotter

1 .Drum Pen Plotter –  का दूसरा नाम रोलर प्लॉटर भी है इसके नाम से ही अस्पष्ट है कि इस प्लास्टर में Drum , PEN , Ink का उपयोग किया जाता है यह एक ऐसा प्लॉटर है जिसमें चित्र बनाने के लिए रंगीन पेन का प्रयोग किया जाता है इस डिवाइस में Drum के ऊपर सीट लगी होती है जो उस पर रोल होती है Drum कागज  या सीट धीरे-धीरे खिसकता  जाता है और पेन उस कागज पर इमेज को ड्रा  करता जाता है Drum प्लॉटर में पेन को उप और डाउन किया जाता है और साथ में पेपर को लेफ्ट और राइट करने के लिए Drum को रोटेट किया जाता है इसमें एक मैकेनिकल उपकरण होता है।

2 .Flatbed Plotter  – इस प्लॉटर को टेबल प्लॉटर भी कहा जाता है इस प्लॉटर का उपयोग बड़े पेपर की छपाई के लिए किया जाता है जिसका आकार चकोर होता है इस प्रकार के प्लॉटर में  फ्लैट बेड पर सीट या कागज को रखा जाता है इसमें दो तरह के रोबोटिक ड्राइंग पॉइंट लगे होते हैं जिसका कार्य दो विभिन्न प्रकार के रंग के पेन को पकड़ना होता है.

इसके बाद पेन रुके हुए कागज के ऊपर इमेज बनाता है इसमें पेन आसानी से बहुत से अलग-अलग साइज के कैरेक्टर ड्रा कर सकती है Flatbed Plotter  का उपयोग कार , एयरक्राफ्ट , बिल्डिंग , हाईवे आदि को  डिजाइन को प्रिंट करने के लिए किया जाता है इस प्रकार के चित्र को बनाने में समय लगता है लेकिन यह हाई क्वालिटी प्रिंट का उत्पादन करता है।

3 .Inkjet Plotter  –  Inkjet Plotter  कागज पर स्याही यानी कि इंक की छोटी बुँदे को चिड़क पर एक इमेज बनाता है इंकजेट प्लॉटर का इस्तेमाल ज्यादातर कस्टमर को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए किया जाता है क्योंकि इसमें बहुत ही रंगीन इमेज की बड़ी इमेज निकाली जाती है एडवरटाइजमेंट एजेंसी और ग्राफिक इंजीनियर के लिए यह एक बहुत ही लोकप्रिय ऑप्शन है Inkjet Plotter  का उपयोग आमतौर पर बड़े आउटपुट के लिए किया जाता है जैसे  बैनर , होर्डिंग , बिलबोर्ड रोड साइड के बड़े साइंस इत्यादि।

4 .Cutting Plotter –  Cutting Plotter  एक बड़े पैमाने पर कट कंप्यूटर प्लॉटर है जो रेडी कट  माइल आर्या फिनायल लेटर ग्राफिक्स  यूज करता है इसमें ऑटोमेटिक प्लॉटर नाइस लगे होते हैं जो आउट पुट सीट  को कट करती है इस प्लास्टर का उपयोग आमतौर पर ads एप्लीकेशन के लिए किया जाता है जिसमें बड़े ग्राफिक डिजाइन जैसे कि आर्किटेक्चर ब्लूप्रिंट का आउटपुट निकाला जाता है यह डिवाइस बहुत ही शुद्धता प्रदान करती है।

 

निष्कर्ष 

आशा है कि आप को स्वीट इस पोस्ट से Plotter क्या है ? इसका इस्तेमाल कहां किया जाता है और यह कितने प्रकार का होता है इससे जुड़ी सारी जानकारी आपको मिल गई होगी। अगर आप को इस पोस्ट से जुडी कोई भी परेशानी हो तो आप हमे कमेंट में जरूर बताये जिससे हम आप के परेशानी को जल्द से जल्द दूर कर सके।

1 thought on “What is Plotter in hindi ? प्लॉटर क्या होता है ?”

Leave a Comment